Mukhyamantri Uch Siksha Chatravriti Yojana 2023: ऑनलाइन मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा छात्रवृत्ति योजना

मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा छात्रवृति योजना राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा शुरू की गई थी। Uch Siksha Chatravriti Yojana के तहत राज्य के वंचित छात्रों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए सरकार द्वारा छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। इस योजना के तहत जिन छात्रों के माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर ने हायर सेकेंडरी परीक्षा सूची में प्रथम एक स्थान प्राप्त किया है। इस योजना के तहत सरकार द्वारा उन छात्रों को वित्तीय सहायता के रूप में 5000 रुपये की वार्षिक छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी।

Mukhyamantri Uch Siksha Chatravriti Yojana
Mukhyamantri Uch Siksha Chatravriti Yojana 2023 ऑनलाइन मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा छात्रवृत्ति योजना

Uch Siksha Chatravriti Yojana के तहत सरकारी छात्रवृत्ति को मुख्य रूप से दो तरह से बांटा जाता है। पहली केंद्र द्वारा दी जाने वाली सरकारी छात्रवृत्ति और दूसरी राज्य द्वारा दी जाने वाली सरकारी छात्रवृत्ति। Mukhyamantri Uch Siksha Chatravriti Yojana के लिए आवेदन करने के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता कक्षा 12वीं पास होनी चाहिए। इस योजना के तहत आवेदक को १२वीं में कम से कम 60% या उससे अधिक अंक प्राप्त होने चाहिए।

Table of Contents

Rajasthan Uch Siksha Chatravriti Yojna का उद्देश्य

Mukhyamantri Rajasthan Uch Siksha Chatravriti Yojna का मुख्य उद्देश्य, राजस्थान के हर गरीब परिवार के बच्चों को शिक्षा प्रदान करना है। ताकि बच्चों को आर्थिक मदद मिल सके। और राज्य में भी ऐसे बच्चे हैं। जो उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं। लेकिन उनकी आर्थिक स्थिति को देखते हुए वह उच्च शिक्षा प्राप्त नहीं कर पा रहे हैं। इस स्कीम के तहत उन छात्रों के भविष्य के लिए सरकार ने राजस्थान मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा छात्रवृत्ति योजना शुरू की है। और आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों की शिक्षा में कोई बाधा नहीं आनी चाहिए। इसलिए इन्हीं मुश्किलों को देखते हुए राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री श्रीमती. वसुंधरा राजे ने इस योजना की शुरुआत की है।

Mukhyamantri Uch Siksha Chatravriti Yojana के तहत सरकार द्वारा 5000 रुपये की वार्षिक छात्रवृत्ति दी जाएगी। और अपने माता पिता का नाम रोशन कर सकेंगे। Rajasthan Mukhyamantri Uch Siksha Chatravriti के तहत छात्रों को आत्मनिर्भर बनाना है। और उच्च शिक्षा प्राप्त करके अच्छी नौकरी प्राप्त करें। ताकि वह अपना और अपने परिवार का ठीक से भरण पोषण कर सके। इस योजना का मुख्य उद्देश्य छात्रों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाना है। ताकि वह किसी और पर निर्भर न रहे।

Rajasthan Mukhyamantri Uch Siksha Chatravriti Scheme जना के लाभ

  • Rajasthan Mukhyamantri Uch Siksha Chatravriti Yojana के तहत बोर्ड की प्राथमिकता सूची में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों को योजना का लाभ अवश्य मिलेगा.
  • इस योजना के तहत यदि छात्र किसी कारणवश पढ़ाई छोड़ देता है। तो उसे पिछले वर्ष तक ही इस योजना का लाभ माना जाएगा।
  • मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा छात्रवृति योजना का लाभ उन सभी गरीब छात्रों के लिए आवश्यक है। जो आर्थिक तंगी के कारण उच्च शिक्षा प्राप्त नहीं कर पाते हैं।
  • इस योजन का नियमित रूप से अध्ययन करने वाले छात्रों को 5 साल तक इस योजना का लाभ मिलेगा।
  • मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा छात्रवृत्ति के तहत हर साल 5000 रुपये और विकलांग छात्रों को हर साल 10000 रुपये दिए जाएंगे।

Mukhymantri Uch Shiksha Chhatravriti के लिए दस्तावेज

  • आधार संख्या |
  • आवेदक के पास भामाशाह कार्ड होना चाहिए।
  • आवेदक का बैंक खाता।
  • जाति और आय प्रमाण पत्र।
  • 10वीं 12वीं पास बोर्ड की मार्कशीट।
  • आवेदक का वर्तमान मोबाइल नंबर अनिवार्य है।
  • आवेदक का पासपोर्ट साइज फोटो।

Uch Siksha Chatravriti Yojana के लिए पात्रता

  • Mukhyamantri Uch Siksha Chatravriti Yojana का लाभ लेने के लिए आवेदक को उचित राजस्थान राज्य का निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना का लाभ पाने के लिए लाभार्थी का किसी भी राष्ट्रीय बैंक में खाता होना चाहिए।
  • राजस्थान मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा छात्रवृति योजना प्राप्त करने के लिए राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर परीक्षा में न्यूनतम 60% अंकों के साथ उत्तीर्ण होना आवश्यक है।
  • मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा छात्रवृत्ति स्कीम का लाभ लेने के लिए लाभार्थी के माता-पिता की वार्षिक आय 2 लाख 50 हजार लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • इस योजना के तहत माध्यमिक शिक्षा मंडल अजमेर की प्राथमिकता सूची में प्रथम एक लाख विद्यार्थियों में स्थान प्राप्त करना आवश्यक है।

Mukhyamantri Uch Siksha Chatravriti Yojna के लिए आवेदन की प्रक्रिया

Rajasthan Mukhyamantri Uch Siksha Chatravriti Yojna में आवेदन करने के लिए आवेदक ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से आवेदन कर सकता है।

ऑनलाइन आवेदन प्रकिया (Online Form)

  • Rajasthan Mukhyamantri Uch Siksha Chatravriti Scheme के आवेदन के लिए सबसे पहले आपको Official Website पर जाना होगा।
  • इस योजना के तहत “राजस्थान के कॉलेज शिक्षा विभाग सरकार” का पेज खुल जाएगा।
  • उसके बाद आपको ऑनलाइन छात्रवृत्ति का विकल्प दिखाई देगा। आपको उस पर क्लिक करना है।
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद फिर से एक नया पेज खुलेगा। उस पर आपको रजिस्ट्रेशन का विकल्प दिखाई देगा।
  • यदि आप पहली बार पंजीकरण कर रहे हैं।
  • इसके बाद रजिस्ट्रेशन बटन पर क्लिक करें। और अगर आपने पहले ही रजिस्ट्रेशन कर लिया है।
  • तो आपको लॉग इन करना होगा।
  • इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • करने के बाद आपको आधार कार्ड, फेसबुक अकाउंट, गूगल अकाउंट, भामाशाह आईडी आदि में से किसी एक को चुनना होगा
  • और आपको उसका आईडी नंबर डालकर उस पर क्लिक करना होगा।
  • उसके बाद उच्च शिक्षा छात्रवृत्ति योजना के लिए आवेदन पत्र प्राप्त होगा।
  • आपको इसमें पूछी गई सभी जानकारी भरनी होगी जैसे :- पता, नाम, आधार कार्ड नंबर, मोबाइल नंबर आदि।
  • अपनी सारी डिटेल्स भरने के बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना है।
  • अब आपका आवेदन राजस्थान मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा छात्रवृति योजना के तहत किया जाएगा।

ऑफलाइन आवेदन प्रकिया (Offline Application)

  • Rajasthan Mukhyamantri Uch Siksha Chatravriti के तहत ऑफलाइन आवेदन के लिए आवेदन पत्र डाउनलोड करना होगा।
  • जो पीडीएफ में फॉर्म होगा।
  • उसके बाद आपको इस आवेदन पत्र का प्रिंटआउट लेना होगा।
  • इस योजना के तहत आपको अपने कॉलेज के प्राचार्य को आवेदन पत्र भरकर
  • उसके साथ महत्वपूर्ण दस्तावेज संलग्न करके आवेदन पत्र जमा करना होगा।
  • यह आवेदन पत्र अंतिम तिथि से पहले जमा कर दिया जाए अन्यथा आवेदन पत्र निरस्त भी हो सकता है।

राजस्थान मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा छात्रवृत्ति योजना से संबंधित पूछे जाने वाले प्रशन:

सरकारी स्कूल में कितनी स्कॉलरशिप मिलती है?

जबकि नौवीं-दसवीं कक्षा के छात्रों को रुपये की छात्रवृत्ति दी जाएगी। सामान्य वर्ग के 11वीं-12वीं के छात्रों को 150 रुपये प्रतिमाह की दर से 10 माह के लिए 1500 रुपये दिए जाएंगे। 230 रुपये की दर से 10 महीने के लिए। 2300 प्रति माह।

राजस्थान मुख्यमंत्री छात्रवृत्ति कितनी है?

राज्य सरकार और केंद्र सरकार की कई स्कॉलरशिप योजनाएं हैं, जिसमें छात्रों को एक हजार रुपये महीने तक दिए जाते हैं। इसमें विकलांग छात्रवृत्ति योजना के तहत स्नातक स्तर पर 125 से 190 रुपये प्रति माह दिए जाते हैं। इसी प्रकार राज्य सरकार एवं उच्च शिक्षा विभाग द्वारा स्नातक स्तर पर 150 रुपये प्रतिमाह।

छात्रवृत्ति नहीं मिलने पर क्या करें?

अगर आपने उत्तर प्रदेश स्कॉलरशिप के लिए अप्लाई किया है और अब चेक करना चाहते हैं कि आपकी स्कॉलरशिप का स्टेटस आया है या नहीं, तो आप स्कॉलरशिप का स्टेटस स्कॉलरशिप Official Website पर जाकर चेक कर सकते हैं।

बच्चों को कितनी मिलती है स्कॉलरशिप?

प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना के तहत छात्राओं के लिए छात्रवृत्ति की राशि 3000 रु. प्रति माह और छात्रों के लिए 2500 रु. हजार प्रति माह है। यह राशि सालाना मुहैया कराई जाएगी। छात्राओं के लिए 2250 रु. प्रति माह और छात्रों के लिए 2000 रु. प्रति माह।

अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति योजना क्या है?

इस योजना का उद्देश्य गरीब और मेधावी अल्पसंख्यक छात्रों को व्यावसायिक और तकनीकी शिक्षा प्राप्त करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करना है।

स्टूडेंट बिहेवियर फॉर्म क्या है?

इसलिए छात्रों का उपयोग 9वीं कक्षा से लेकर स्नातकोत्तर तक की शिक्षा के लिए किया जाता है। आप अपने उज्जवल भविष्य के लिए अच्छी शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं। छात्र पीएफएमएस के माध्यम से अपनी छात्रवृत्ति की स्थिति की जांच करते हैं। आप की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऐसा कर सकते हैं

Ma का स्कॉलरशिप कितना आता है?

अन्य पिछड़ी जाति पूर्वदशम कक्षा 3 से 10 छात्रवृत्ति योजनान्तर्गत कक्षा 3 से 5 में रू० 50/-कक्षा 6 से 8 में रू० 80/- तथा कक्षा 9 से 10 में रू० 100/- प्रतिमाह की दर से छात्रवृत्ति आती है।

छात्रवृत्ति का फार्म भरने के लिए कोन कोन डॉक्यूमेंट चाहिए?

Scholarship आवेदन करने के लिए डॉक्यूमेंट रिक्वायरमेंट :-
·         आधार कार्ड
·         आय प्रमाण पत्र
·         जाति प्रमाण पत्र
·         निवास प्रमाण पत्र
·         मोबाइल नंबर
·         ईमेल आईडी
. बैंक पासबुक

कॉलेज में छात्रवृत्ति कितनी मिलती है?

छात्रवृत्ति बारहवीं पास विद्यार्थियों को दी जाती है। इसमें स्नातक में पढ़ाई के दौरान 125 से 180 रुपए हर महीने आर्थिक मदद मिलती है। 40 फीसद या उससे अधिक नि:शुल्क वाले अभ्यर्थी ही इसके पात्र होते हैं। विद्यार्थी कॉलेज में नियमित हो और उसके अभिभावक की मासिक आय 8000 रुपए प्रतिमाह से कम होनी चाहिए।

कॉलेज स्कॉलरशिप की जांच कैसे करें?

·         www.pfms.nic.in पर यूपी स्कॉलरशिप स्टेटस कैसे चेक करें?
·         उसके बाद छात्रवृत्ति के आधिकारिक पोर्टल, Scholarship.up.nic.in पर जाएं।
·         वेबसाइट के होमपेज पर “स्टेटस” टैब पर क्लिक करें।
·         आपकी सही पंजीकरण संख्या और जन्म तिथि दर्ज करें।
·         स्क्रीन पर सर्च बटन पर क्लिक करें और आवेदन की स्थिति प्रदर्शित होगी।

मैट्रिक छात्रवृत्ति क्या है?

इस प्रकार, पोस्ट-मैट्रिक छात्रवृत्ति का पूरा अर्थ पोस्ट-हाई स्कूल छात्रवृत्ति है। या छात्रवृत्ति। यह छात्रवृत्ति उन छात्रों और लड़कियों को दी जाती है जो हाई स्कूल की कक्षा पास कर चुके हैं और अपनी फीस का भुगतान करने में असमर्थ हैं। विभिन्न राज्यों में कई पोस्ट-मैट्रिक छात्रवृत्ति भी प्रदान की जाती हैं।

मैट्रिक के बाद कितना पैसा खर्च होता है?

उन सभी छात्रों और लड़कियों को पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति का लाभ मिलेगा। सभी छात्र और पूर्व छात्र जिन्होंने पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए आवेदन किया है। उन सभी छात्रों और पूर्व छात्रों को रुपये दिए गए। छात्रवृत्ति। 25,000 रुपये तक की सहायता प्रदान की जाएगी।