Mukhyamantri Balak Balika Protsahan Yojana 2022 सरकारी योजना के बारे में पूरी जानकारी

Mukhyamantri Balak Balika Protsahan Yojana: बिहार राज्य ने मुख्यमंत्री लड़का-लड़की प्रोत्साहन योजना शुरू की है। मुख्यमंत्री बालक-बालिका प्रोत्साहन स्कीम के अंतर्गत द्वितीय श्रेणी से उत्तीर्ण अनुसूचित जाति एवं जनजाति के विद्यार्थियों को ही सरकार द्वारा 8000 रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। इस Mukhyamantri Balak-Balika Protsahan Yojana के तहत छात्रों का 2019 में 10वीं पास होना और छात्रों का अविवाहित होना अनिवार्य है। और इस योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री बालक-बालिका प्रोत्साहन स्कीम का लाभ लेने के लिए आवेदक के परिवार की वार्षिक आय 1.5 लाख या अधिक से कम नहीं होनी चाहिए। Mukhyamantri Balak-Balika Protsahan Yojana के अंतर्गत प्रथम एवं द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाली छात्राओं को शासन द्वारा प्रोत्साहन राशि प्रदान की जायेगी तथा विद्यार्थी शिक्षा के क्षेत्र में नया मुकाम प्राप्त कर सकेंगे। इससे छात्रों को पढ़ाई के लिए प्रोत्साहन मिलेगा। और लड़के और लड़कियां दोनों इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

Mukhyamantri Balak Balika Protsahan Yojana
Mukhyamantri Balak Balika Protsahan Yojana 2022 सरकारी योजना के बारे में पूरी जानकारी

Table of Contents

bihar Mukhyamantri Balak Balika Protsahan Yojana का उद्देश्य

Balak-Balika Protsahan Yojana के तहत छात्रों को आवेदन करने के लिए न तो स्कूलों में जाना होगा और न ही किसी प्रकार की परेशानी का सामना करना पड़ेगा। और अब लड़के और लड़कियां ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। मुख्यमंत्री बालक-बालिका प्रोत्साहन योजना के तहत 10वीं बोर्ड परीक्षा में प्रथम श्रेणी उत्तीर्ण करने वाले बालक-बालिकाओं को सरकार द्धारा 10 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। और आप घर बैठे मुख्यमंत्री लड़का-लड़की 10वीं पास प्रोत्साहन योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

  • Bihar Mukhyamantri Balak-Balika Protsahan Scheme के तहत पिछले साल मुख्यमंत्री बालक-बालिका प्रोत्साहन योजना की शुरुआत की थी ताकि सभी इस योजना के लिए बच्चों को अपने स्कूल और कॉलेजों में ऑफलाइन आवेदन जमा करने थे।
  • इस योजना के तहत बच्चों के खाते में पैसे आने में काफी परेशानी और देरी होती थी।
  • 10वीं पास बच्चों को आगे पढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया जा सके.
  • लेकिन अब इस योजना के तहत 10वीं पास लड़का-लड़की प्रोत्साहन योजना का लाभ लेने के लिए छात्रों और लड़कियों को ई-कल्याण की वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा.

Mukhyamantri Balak Balika Protsahan Yojana का लाभ

  • Mukhyamantri Balak-Balika Protsahan Yojana के अंतर्गत द्वितीय श्रेणी से उत्तीर्ण अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के विद्यार्थियों को ही सरकार द्वारा 8000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • मुख्यमंत्री बालक-बालिका प्रोत्साहन योजना का लाभ प्रदेश के बालक-बालिकाओं को दिया जायेगा.
  • बालक-बालिका प्रोत्साहन योजना के तहत राज्य के लड़के-लड़कियां अविवाहित होना चाहिए।
  • Mukhyamantri Balak-Balika Protsahan Scheme के अंतर्गत बिहार राज्य के लड़के और लड़कियों को बिहार सरकार की ओर से वर्ष 2019 में प्रथम श्रेणी से 10वीं बोर्ड परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले सभी लड़कों और लड़कियों को राज्य सरकार की ओर से 10,000 रुपये दिए जाते हैं। मुख्यमंत्री बालक बालिका प्रोत्साहन योजना के तहत वर्ष 2019 में सभी छात्रों का 10वीं पास होना अनिवार्य है और छात्र अविवाहित होना चाहिए।

Balak Balika Protsahan Yojana के लिए दस्तावेज

  • आवेदक का आय प्रमाण पत्र।
  • आवेदक का मोबाइल नंबर।
  • 10 वीं का परिणाम/पंजीकरण कार्ड |
  • आवेदक का पहचान पत्र।
  • आवेदक का बैंक खाता पासबुक होना चाहिए।
  • पासपोर्ट साइज फोटो।
  • आवेदक के पास आधार कार्ड होना चाहिए।
  • आवेदक का जाति प्रमाण पत्र।

मुख्यमंत्री बालक-बालिका प्रोत्साहन योजना के लिए आवेदन की प्रकिया

  • सबसे पहले आवेदक को Bihar Mukhyamantri Balak/Balika Protsahan Yojana की Official Website पर जाना होगा।
  • उसके बाद आपके सामने आधिकारिक वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज पर जाने के बाद आपके सामने 3 विकल्प होंगे।
  • आपको 3 विकल्पों में से सबसे नीचे “ मुख्यमंत्री लड़का/लड़की 10वीं पास प्रोत्साहन योजना” के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • विकल्प पर क्लिक करने के बाद अगला पेज खुल जाएगा।
  • आपको नाम चेक करने के लिए अपना नाम चेक करना होगा आपको नीचे नाम और खाता विवरण सत्यापित करना होगा।
  • विकल्प दिखाई देगा। आपको उस ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • उस विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया लिंक खुल जाएगा।
  • जिसमें आपको अपने जिले और कॉलेज का चयन करना है।
  • इसके बाद आपको व्यू बटन पर क्लिक करना होगा।
  • उसके बाद वर्ष 2019 में अगले पेज पर जो छात्र प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण हुए हैं। उनकी लिस्ट आएगी।
  • उसके बाद आपको पिछले पेज पर वापस जाना है और क्लिक टू अप्लाई ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल जाएगा।
  • उसमें अपना रजिस्ट्रेशन नंबर, जन्मतिथि, 10वीं में प्राप्त अंक, पिनकोड सही से भरने के बाद लॉगिन पर क्लिक करना है।
  • लॉगइन पर क्लिक करते ही आप लॉगइन आईडी पर पहुंच जाएंगे।
  • बैंक डिटेल्स पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक फॉर्म खुल जाएगा।
  • आपको सारी जानकारी भरनी है जैसे :- नाम, पिता का नाम, रजिस्ट्रेशन नंबर, बैंक अकाउंट नंबर, IFSC कोड, आधार नंबर।
  • अब आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा। इसे टिक करने के बाद फाइनल सबमिट बटन पर क्लिक करें।
  • आपकी आवेदन भरने की प्रक्रिया समाप्त हो जाएगी।

मुख्यमंत्री बालक बालिका प्रोत्साहन योजना से संबंधित पूछे जाने वाले प्रशन:

मुख मंत्री बालक बालिका प्रोत्साहन योजना की आधिकारिक वेबसाइट क्या है?

मुख मंत्री बालक बालिका प्रोत्साहन योजना की आधिकारिक वेबसाइट http://edudbt.bih.nic.in/ ये है।

मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना का पैसा कैसे चेक करें?

·         आवेदन की स्थिति जांचने की प्रक्रिया
·         सबसे पहले आपको ई-कल्याण पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
·         अब आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
·         होम पेज पर आपको मुख मंत्री कन्या उत्थान योजना-मुख मंत्री कन्या (माध्यमिक +2) पदोन्नति योजना 2020 (लिंक -1) के लिए आवेदन करने के लिए लिंक पर क्लिक करना होगा।

बालिका प्रोत्साहन योजना क्या है?

इस योजना के तहत 2 डिवीज़न से पास होने वाले केवल अनुसूचित जाति और अनुसूचित जन जाति के छात्र छात्राओं को सरकार द्वारा 8000 रूपये की प्रोत्साहन राशि आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी ।

राज्य में लड़कियों की शिक्षा, लड़कियों की शिक्षा की मुख्य चुनौतियों के बारे में आप क्या सोचते हैं?

लड़कियां किसी भी समाज की भावी मां होती हैं। स्कूल लड़कियों को जीवन कौशल, प्रजनन स्वास्थ्य ज्ञान और मुद्दों पर चर्चा करने के लिए सामाजिक कौशल प्रदान कर सकते हैं। अगर हमारी आधी आबादी पुरुषों पर निर्भर है तो विकास का कोई साधन नहीं है। आर्थिक स्वतंत्रता और सशक्तिकरण तभी आएगा जब हम हर बच्चे को शिक्षित करेंगे।

लड़कियों के लिए शिक्षा क्यों जरूरी है?

शिक्षित महिलाओं में शिशु मृत्यु दर का जोखिम कम होता है। शिक्षित महिलाएं अन्य महिलाओं की तुलना में अपने बच्चों की रक्षा करने में 50% अधिक सक्षम हैं। शिक्षित महिलाओं के एचआईवी/एड्स के संपर्क में आने की संभावना कम होती है। शिक्षित महिलाओं के घरेलू या यौन हिंसा का शिकार होने की संभावना कम होती है।

महिला शिक्षा की मुख्य समस्या क्या है?

जनगणना के आंकड़े यह भी दर्शाते हैं कि देश में महिलाओं की साक्षरता दर (64.46 प्रतिशत) देश की समग्र साक्षरता दर (74.04 प्रतिशत) से कम है। बहुत कम लड़कियां स्कूलों में दाखिला लेती हैं और उनमें से कई बीच में ही पढ़ाई छोड़ देती हैं। रूढ़िवादी सांस्कृतिक प्रवृत्तियों के कारण बहुत सी लड़कियां स्कूल नहीं जा पाती हैं।

इस योजना के तहत लाभार्थी कौन होंगे?

इस योजना के तहत लाभार्थी वे बच्चे होंगे जिन्होंने दसवीं बोर्ड में प्रथम स्थान प्राप्त किया है, चाहे उनकी जाति कुछ भी हो, उन्हें रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। 10,000. इसके अतिरिक्त 10वीं कक्षा में द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले तथा अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों को 1000/- रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जायेगी। 8 हजार।

लड़के और लड़की में क्या अंतर है?

जैसे एक लड़के को पुरुष का बच्चा कहा जाता है, वैसे ही एक महिला के बच्चे को लड़की कहा जाता है। लड़का पुरुष बच्चे के लिए एक हिंदी शब्द है, जबकि सभी भाषाओं में इसके लिए एक उपयुक्त शब्द है, जैसे अंग्रेजी में लड़का।

लड़कियों की शिक्षा में क्या समस्या है?

वित्तीय बाधाओं और सरकारी अनुदान की अनुपलब्धता के कारण, धन का कोई प्रावधान नहीं किया जा सकता है। आर्थिक संकट के कारण लड़कियों की शिक्षा लगातार पिछड़ रही है। 2. सामाजिक रीति-रिवाज और मान्यताएँ – ग्रामीण क्षेत्रों में बाल विवाह के कारण लड़कियों की शिक्षा बाधित होती है।

यह भी पढ़े: