[ पंजीकरण ] उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना 2022 UP Bhagya laxmi Yojana

UP Bhagya laxmi Yojana:उत्तर प्रदेश सरकार ने 2018 में एक नई योजना शुरू की है। उस योजना का नाम भाग्य-लक्ष्मी रखा गया है। यूपी की सभी लड़कियों को सहायता प्रदान करने के लिए उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना शुरू की गई है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा एक नई योजना का मुख्य उद्देश्य लड़कियों का जन्म है। वे गरीब परिवार पैसे के कारण लड़कियों को पैदा नहीं कर सकते। इस वजह से लड़कियों की संख्या दिन-ब-दिन कम होती जा रही है। और इसी समस्या को दूर करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने Bhagya lakshmi Yojana शुरू की है।

UP Bhagya lakshmi Yojana की शुरुआत योगी आदित्यनाथ जी ने की थी। उत्तर प्रदेश भाग्य-लक्ष्मी योजना का उद्देश्य बालिकाओं के जन्म को बढ़ावा देना और भ्रूण हत्या को रोकना है। इस स्कीम के तहत जन्म लेने वाली लड़की को सरकार द्वारा 50000 रुपये की राशि दी जाएगी। और उसकी मां को 5100 रुपये दिए जाएंगे। इस योजना के तहत जब लड़की 21 साल की होगी तो लड़की को सरकार की ओर से 200000 रुपये मिलेंगे।

UP Bhagya laxmi Yojana
उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना केबारे में पूरी जानकारी

Bhagya laxmi Yojanaके तहत देश की प्रत्येक बालिका को इस योजना का लाभ दिया जाएगा। और आज के गरीब परिवार की सोच ऐसी है कि लड़की के जन्म पर कौन खर्च करेगा। लड़की की शादी के लिए लाखों रुपये कहां से लाऊंगा, ऐसा सोचकर वे अपनी बेटी को मार डालते हैं और अब भी यही हो रहा है. इसी समस्या को दूर करने के लिए सरकार ने UP Bhagya laxmi Yojana शुरू की है। और यही उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना का मुख्य उद्देश्य है।

Table of Contents

UP Bhagya laxmi Yojana का उद्देश्य

Bhagya lakshmi Scheme के तहत बालिकाओं की समस्याओं को देखते हुए। उत्तर प्रदेश सरकार ने उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना शुरू की है। उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना के तहत बेटियों के भ्रूण हत्या पर रोक लगेगी। उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना के तहत प्रदेश की लड़कियों की नकारात्मक सोच को बदला जा रहा है। इस योजना से बेटियों के जीवन स्तर को ऊंचा किया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना के लाभ

  • Utta Pradesh  Bhagya lakshmi Yojana के अंतर्गत एक परिवार की केवल दो बेटियां ही इस योजना का लाभ उठा सकती हैं।
  • इस योजना के तहत बालिकाओं का नामांकन सरकारी शिक्षण संस्थान में होना चाहिए।
  • इस योजना के तहत, एक बेटी को कक्षा 6 में जाने पर 3000 रुपये, कक्षा 8 में जाने पर 5000 रुपये, कक्षा 10 वीं में 7,000 रुपये और कक्षा 12 वीं में 8000 रुपये दिए जाएंगे।
  • भाग्य लक्ष्मी योजना के तहत लड़की जब 21 साल की हो जाएगी। फिर उसके माता-पिता को सरकार की ओर से 2 लाख रुपये दिए जाएंगे।
  • यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना का लाभ राज्य के आर्थिक उप क्षेत्र के गरीब लोगों की बेटियों को प्रदान किया जाएगा।
  • उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना के तहत बेटी के जन्म पर उसके खाते में 50000 रुपये जमा कराए जाएंगे। उनकी मां को भी 5100 रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी।
  • UP Bhagya lakshmi Yojana के तहत लड़कियों की शिक्षा का स्तर और भी अधिक बढ़ेगा।

UP Bhagya Laxmi Yojana के लिए पात्रता

  • इस योजना में केवल बीपीएल परिवार ही शामिल हो सकते हैं।
  • इस योजना के तहत लड़की को सरकारी स्कूल में पढ़ाना होगा न कि किसी निजी स्कूल में।
  • सरकारी कर्मचारी इस योजना का लाभ नहीं ले सकते।
  • भाग्य लक्ष्मी योजना के तहत 2006 के बाद पैदा हुई बेटियों के लिए है। उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना |
  • UP Bhagya lakshmi scheme का लाभ लेने के लिए व्यक्ति को यूपी का निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के तहत जब एक बेटी का जन्म होता है। इसके एक माह के भीतर आंगनबाडी में पंजीयन कराना अनिवार्य है।
  • उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना का लाभ लेने के लिए परिवार की आय सालाना दो लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना के तहत लाभार्थी बेटी की शादी 18 साल से पहले नहीं की जा सकती है।

उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना की मुख्य विशेषताएं

  • Uttar Pradesh  Bhagya lakshmi Yojana के तहत सरकार महिला कल्याण विभाग द्वारा आयोजित की जाएगी।
  • इस योजना के तहत लड़की 21 साल कीहो जाएगी तो 2 लाख रुपये यूपी सरकार की ओर से दिए जाएंगे।
  • और जब लड़की छठी कक्षा में होगी तो उसे यूपी सरकार द्वारा 3000 रुपये दिए जाएंगे।
  • जब लड़की 8वीं कक्षा में होगी तो उसके माता-पिता को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 5000 रुपये दिए जाएंगे।
  • इस योजना के तहत यूपी सरकार लड़की की मां को 50000 रुपये देगी।
  • सरकार उम्मीदवार के बैंक खाते में 5,100 रुपये डालेगी।
  • भाग्य लक्ष्मी योजना के तहत जन्म लेने वाली बालिका की मां को लाभ मिलेगा।
  • ओर आवेदक बीपीएल सूची के अंतर्गत होना चाहिए।
  • इस योजना के तहत लड़की की उम्र 21 साल होने पर उसके माता-पिता को दो लाख रुपये दिए जाएंगे.
  • गरीबी रेखा के नीचे जन्म लेने वाली लड़कियों के माता-पिता इस योजना के तहत नामांकन करा सकते हैं।
  • इसके लिए माता-पिता के पास बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र होना चाहिए।
  • 10वीं कक्षा में आने के बाद बच्चों के माता-पिता को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 7000 रुपये दिए जाएंगे।
  • और 12वीं कक्षा में प्रवेश लेने के बाद 8000 रुपये देंगे।

UP Bhagya Laxmi Scheme के लिए दस्तावेज

  • आवेदक का पासपोर्ट फोटो।
  • आधार कार्ड होना चाहिए।
  • आवेदक के परिवार का मोबाइल नंबर अनिवार्य है।
  • बालिका का जन्म प्रमाण पत्र आवश्यक है।
  • आवेदक की बैंक पासबुक साथ रखें।
  • आवेदक का जाति प्रमाण पत्र अनिवार्य है।
  • लड़की के परिवार का आय प्रमाण पत्र अनिवार्य है।
  • आवेदक के निवास प्रमाण पत्र की छायाप्रति आवश्यक है।

उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया

  • UP Bhagya lakshmi Yojana के तहत आपको सबसे पहले उत्तर प्रदेश की Official Website पर जाना होगा।
  • उसके बाद आपको उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना का आवेदन पत्र पीडीएफ डाउनलोड करना होगा।
  • फिर आपको आवेदन पत्र में पूछी गई जानकारी जैसे जन्म तिथि, नाम आदि दर्ज करनी होगी।
  • अपनी जानकारी पूरी करने के बाद, आपको आवेदन पत्र के साथ अपने दस्तावेज संलग्न करने होंगे।
  • फिर आपको इन सभी दस्तावेजों और आवेदन पत्र को आंगनबाडी केंद्र या महिला कल्याण विभाग के कार्यालय में जमा करना होगा।
  • इन सभी को आपको जमा करने के बाद अधिकारी द्वारा आपके सभी दस्तावेजों की जांच की जाएगी। तब आपको उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना का लाभ मिलेगा।

उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना से संबंधित पूछे जाने वाले प्रशन:

भाग्य लक्ष्मी योजना कब शुरू हुई?

बीपीएल परिवारों में 31 मार्च, 2006 के बाद पैदा हुई सभी लड़कियां इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र हैं।

भगिया लक्ष्मी योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

उत्तर प्रदेश भागलक्ष्मी योजना का लाभ केवल इस योजना के तहत आवेदन करने वाली परिवार की लड़कियों को ही दिया जाता है, इसलिए आवेदक इस योजना के तहत आवेदन करें, तभी वे इस योजना का लाभ उठा पाएंगे जिसके लिए आवेदक इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर आवेदन करने के लिए। आप आवेदन पत्र mahilakalyan.up.nic.in पर प्राप्त कर सकेंगे।

लाडली लक्ष्मी योजना में कितना पैसा मिलता है?

रुपये का प्रमाण पत्र। 1,18,000/- सरकार द्वारा बच्चे के नाम पर जारी किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत बालिकाओं के नाम पंजीकरण के समय से लगातार पांच वर्षों तक मध्यप्रदेश लाड़ली लक्ष्मी योजना कोष में 6000/- रुपये की राशि जमा की जाएगी अर्थात कुल 30000 रुपये नाम से जमा किए जाएंगे। बच्चे का।

बेटियों के लिए कौन कौन सी योजना है?

बेटियों के लिए क्या हैं सरकारी योजनाएं और उनकी पूरी जानकारी
·         सुकन्या समृद्धि योजना
·         लाडली लक्ष्मी योजना
·         सीबीएसई उड़ान योजना
·         लाडली योजना (हरियाणा)
·         पूर्व कन्या भाग्यश्री योजना

यूपी में कौन सी योजना चल रही है?

योगी योजना 2022: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार की योजना सूची, योगी योजना सूची
·         योगी योजना के क्या लाभ हैं?
·         उत्तर प्रदेश गोपालक योजना
·         यूपी फ्री टैबलेट / स्मार्टफोन योजना
·         यूपी छात्रवृत्ति योजना
·         उत्तर प्रदेश विवाह अनुदान योजना
·         मुख मंत्री अभ्युदय योजना
·         मुख्यमंत्री प्रवासी श्रमिक उद्यम विकास योजना
·         यूपी आसान किस्त योजना

लाडली योजना का क्या लाभ है?

जिन लोगों की बेटी का जन्म दिल्ली के अस्पताल में हुआ है, वे लाडली योजना का लाभ उठा सकते हैं। सरकार रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान करती है। 11,000 दिल्ली के एक अस्पताल में पैदा हुए बच्चे को। इसके अलावा, रुपये की वित्तीय सहायता। दिल्ली में ही बच्चे के जन्म पर 10,000 रुपये दिए जाते हैं।

लाडली लक्ष्मी योजना में नाम कैसे चेक करें?

·         मध्य प्रदेश लाडली लक्ष्मी योजना ऑनलाइन नाम खोज में नाम कैसे खोजें: –
·         सूची में लड़कियों के नाम अलग-अलग तरीकों से देखे जा सकते हैं जैसे: बच्चे के नाम से लेकर बच्चे की माँ के नाम तक…
·         उदाहरण के लिए हम लाडली लक्ष्मी योजना नाम सूची में बच्चे की जन्म तिथि से प्रमाण पत्र खोज कर दिखा रहे हैं।

क्या है योगी की नई योजना?

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने 19 अगस्त 2021 को यूपी फ्री टैबलेट / स्मार्टफोन योजना की शुरुआत की है। योजना के शुभारंभ की घोषणा विधानसभा में अपने संबोधन के दौरान की गई है। यह योजना लगभग एक करोड़ युवाओं को टैबलेट या स्मार्टफोन प्रदान करेगी।

लाडली योजना राशि का दावा कैसे करें?

परिपक्वता राशि का दावा करने के लिए, बच्चे के पास एसबीआईएल से रसीद होनी चाहिए। रसीद के साथ अन्य सभी आवश्यक दस्तावेज होने चाहिए। बच्चे को पवित्र पत्र के साथ आवेदन जमा करना होगा।

लाडली योजना झारखंड क्या है?

15 नवंबर 2010 के बाद जन्म लेने वाली लड़कियों को लाभ मिल रहा है। इस योजना के तहत बच्चे के जन्म से लेकर 5 वर्ष की आयु तक रु. 6000 यानी कुल रु. पोस्ट ऑफिस में बच्चे के नाम पर एक निश्चित रकम का खाता खुलवाया जाता है।

यह भी पढ़े: