Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना की सम्पूर्ण जानकरी

Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana: दोस्तों आज हम आपको Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana के बारे में बता रहे हैं कि आप इस स्कीम के तहत ऑनलाइन पंजीकरण कैसे कर सकते हैं। देश के गरीब बेरोजगार लोगों को रोजगार प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार कई प्रकार की कौशल प्रशिक्षण योजनाएं चला रही है, ताकि इन युवाओं को प्रशिक्षण देकर उन्हें रोजगार प्रदान किया जा सके ताकि वे अपने भविष्य के साथ-साथ कर सकें। देश के विकास में भी अपना योगदान दें। आज हम आपको इस योजना से जुड़ी सारी जानकारी दे रहे हैं ताकि आप अपना पूरा योगदान दे सकें।

Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana
दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना की सम्पूर्ण जानकरी

Dindayal Yojana

Pandit Dindayal Yojana का उद्देश्य देश के बेरोजगार युवाओं को अपनी युवा शक्ति का उपयोग करना है, जिसके माध्यम से युवाओं को उनके पसंदीदा कौशल में प्रशिक्षित किया जाता है, जब उनका प्रशिक्षण पूरा हो जाता है और वे अपने काम में कुशल हो जाते हैं, तो उन्हें प्रदान किया जाता है। नौकरियां। इसके साथ ही सरकार की ओर से एक सर्टिफिकेट भी दिया जाता है, इस सर्टिफिकेट से युवाओं को नौकरी मिलने में काफी आसानी होती है। इसके बाद देश के युवा, देश के युवा अपनी बेरोजगारी दूर करते हैं, इसके साथ ही देश की प्रगति भी होती है।

Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana में शामिल कदम क्या हैं

  • इसमें युवाओं को न्यूनतम वेतन से अधिक वेतन मिल सकता था।
  • गरीब ग्रामीण युवाओं की पहचान करना।
  • गरीब युवाओं और उनके माता-पिता की काउंसलिंग।
  • रोजगार के अवसरों के बारे में ग्रामीण समुदाय के भीतर जागरूकता बढ़ाना।
  • रोजगार के अवसरों के अनुसार ज्ञान, उद्योग से संबंधित कौशल और दृष्टि प्रदान करना।
  • ऐसी नौकरियां प्रदान करना जिन्हें स्वतंत्र रूप से सत्यापित किया जा सके।
  • रोजगार के अवसरों की तलाश में ग्रामीण युवाओं को संगठित करना।
  • नियुक्ति के बाद व्यक्ति की निरंतर आय के लिए सहायता प्रदान करना।
  • योग्यता के आधार पर कौशल विकसित करने के लिए युवाओं का चयन

Deen Dayal Kaushal Vikas Yojana का मूल्यांकन

सरकार द्वारा Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana के मूल्यांकन का उद्देश्य यह है कि ग्रामीण गरीब बेरोजगार युवाओं को इससे कितना लाभ मिल रहा है। या प्लेसमेंट ने कैसा प्रदर्शन किया है? सरकार अक्सर Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Scheme के तहत युवाओं को मिलने वाले लाभों और प्लेसमेंट का मूल्यांकन करती है। से प्राप्त किया जा सकता है पंडित दीनदयाल योजना में प्रशिक्षण लेने के बाद, कार्यान्वयन एजेंसी लोगों को प्लेसमेंट देती है। साथ ही सरकार नहीं आ सकी कि इस योजना के तहत प्लेसमेंट का प्रदर्शन बहुत खराब है।

  • 2015 से 2019 तक सरकार द्वारा मूल्यांकन किया गया।
  • इस मूल्यांकन की जिम्मेदारी कर्नाटक मूल्यांकन प्राधिकरण को दी गई थी।
  • यह पाया गया कि अधिकांश स्नातक युवा इस योजना का लाभ प्राप्त कर रहे हैं।
  • एब्लेशन अथॉरिटी ने करीब 25 सौ लोगों पर यह सर्वे किया।
  • इसमें से अधिकांश स्नातक से।
  • जो कि योजना के दिशा-निर्देशों और राष्ट्रीय प्लेसमेंट दर से काफी कम है।
  • प्राधिकरण ने मूल्यांकन में पाया कि 5 वर्षों में प्लेसमेंट दर बहुत कम रही है, लगभग 36%।
  • समिति ने बताया कि अधिकांश शिक्षित बेरोजगार युवा इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • पंडित दीनदयाल योजना के तहत औसत मासिक वेतन 8136.45 रुपये है।
  • यह पाया गया कि इसके द्वारा किए गए प्लेसमेंट में अधिकांश लाभार्थी युवाओं ने कम वेतन और अन्य समस्याओं के कारण इस्तीफा दे दिया।

हिमायत फ्री प्लेसमेंट लिंक स्किल ट्रेनिंग प्रोग्राम

जम्मू और कश्मीर के क्षेत्रीय युवा उम्मीदवारों को कौशल प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए, हिमायत श्री प्लेसमेंट लिंक कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रम नामक एक विशेष उप योजना शुरू की गई है। यह कार्यक्रम ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा चलाया जा रहा है, जिसमें शहरी और ग्रामीण युवाओं को रखा गया है। यह कार्यक्रम दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल स्कीम के तहत चलाया जा रहा है। इस योजना के तहत जम्मू-कश्मीर के जिन छात्रों ने पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी है, उन्हें कौशल प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके साथ ही हिमायत फ्री प्लेसमेंट लिंक स्किल ट्रेनिंग प्रोग्राम के तहत प्रशिक्षण लेने वाले छात्रों को यात्रा भत्ता और अन्य सामग्री के लिए भत्ता भी प्रदान किया जाएगा। इसमें बीपीएल और एपीएल दोनों छात्र शामिल हैं।

Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Scheme के माध्यम से ग्रामीण विकास मंत्रालय ने अपनी आजीविका के लिए गरीबी कम करने के लिए जम्मू-कश्मीर के बेरोजगार युवाओं को अंग्रेजी भाषा, सूचना प्रौद्योगिकी स्केल या सॉफ्ट स्कूल में प्रशिक्षण देकर प्लेसमेंट करने की योजना बनाई है। इस योजना को चलाते हुए हिमायत मिशन प्रबंधन इकाई ने कहा है कि यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण योजना है और इसके माध्यम से राज्य के छात्र आत्मनिर्भर बन सकेंगे और ऐसी योजना को पूरे भारत में लागू किया जाना चाहिए.

Deen Dayal Upadhyay Kaushal Vikas Yojana का उद्देश्य

इस स्कीम का मुख्य उद्देश्य कम पढ़े-लिखे बेरोजगार युवाओं को योग्य बनाना है ताकि वे अपने पैरों पर खड़े हो सकें और अपनी बेरोजगारी दूर करने के अलावा देश की प्रगति में अपना योगदान दे सकें। इस योजना का मुख्य उद्देश्य उन बेरोजगार युवाओं को प्रोत्साहित करना है, खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में, जो अपने जीवन से निराश हो चुके हैं।

पंडित दीनदयाल योजना के लाभ

  • Pandit Dindayal Yojana के तहत ग्रामीण बेरोजगार युवाओं को विभिन्न प्रकार के कार्यों का प्रशिक्षण दिया जाएगा।
  • विभिन्न राज्यों में प्रशिक्षण केंद्र स्थापित किए जाएंगे ताकि अधिक से अधिक युवा इस योजना का लाभ उठा सकें।
  • इस योजना से प्राप्त प्रमाण पत्र पर पूरे भारत में विचार किया जाएगा।
  • Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana के तहत बेरोजगार ग्रामीण युवाओं को रोजगार मिलेगा।
  • दीनदयाल उपाध्याय स्कीम के अंतर्गत 200 से अधिक विभिन्न कार्यों को शामिल किया गया है जिसमें युवा अपनी रुचि के अनुसार प्रशिक्षण लेकर कुशल बन सकते हैं.

Dindayal Upadhyay Gramin Kaushal Yojana के महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • आयु प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • वोटर आई कार्ड
  • तीन पासपोर्ट आकार के फोटो
  • स्थायी निवासी प्रमाण पत्र

दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्या योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

  • इसके लिए सबसे पहले आपको Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana की Official Website पर जाना होगा।
  • इस लिंक पर क्लिक करने के बाद आपको इस वेबसाइट का होम पेज दिखाई देगा।
  • इस होम पेज पर आपको न्यू रजिस्ट्रेशन का विकल्प दिखाई देगा, जिस पर आपको क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने इस योजना का आवेदन फॉर्म खुल जाएगा। जिस पर आपको फोन नंबर लिखने का ऑप्शन दिखाई देगा, इस पर आपको अपना रजिस्ट्रेशन मोबाइल नंबर लिखना है।
  • इसके बाद आपको खुद से जुड़ी सभी जानकारी ध्यान से भरनी है।
  • इस में आपसे आवश्यक दस्तावेजों के बारे में विवरण मांगा जाएगा।
  • आपको सभी आवश्यक दस्तावेजों को स्कैन और अपलोड करना होगा।
  • इसके बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना है।

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *